दुध वरदान

                               

भारत विश्व का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश है। यह सब हमारे यहाँ पशु जनसंख्या के कारण है। परन्तु हमारे प्रति पशु उत्पादकता बहुत कम है इसका मुख्य कारण संतुलित आहार का उपलब्ध न होना है। भारतीय दुग्ध उत्पादन में 70 % दूध की आपूर्ति भूमिहीन किसानो से होती है। दुग्ध उत्पाद का हिस्सा देश की जीडीपी का करीब 5 प्रतिशत है। भारतीय परम्परा में देशी गाय के दूध को अमृत कहा गया है। दूध का उत्पादन तेज़ी से बढ़ाने के लिए पशुओं को अच्छी गुणवत्ता वाला फीड आवश्यक है। यह सर्व विदित है की दुधारू पशुओं पर करीब 60 से 70 फीसदी खर्च सिर्फ उनकी खुराक पर होता है। ऐसे में आवश्यक है कि पशुओं की खुराक उनके उत्पादन के अनुरूप उचित एंव संतुलित हो जिसमे सभी आवश्यक तत्व विद्यमान हो। प्रायः आम खाद्य पद्धार्थ में निम्नलिखित तत्व पाये जाते हैं पशुओं को मुख्यतः 6 पोषक तत्व संतुलित मात्रा में आवश्यक है

.            प्रोटीन    .            खनिज लवण        .            विटामिन

.            वसा        .            कार्बोहाइड्रेट        .            जल

100%

यूरिया रहित पशु आहार

यूरिया, शीरा युक्त पशु आहार पशुओं के लिए पूरक पोषण का महत्त्वपूर्ण स्रोत है जिसके फलस्वरूप पशुओं की उत्पादन क्षमता में सुधार होता है।

100%

विभिन्न प्रकार के विटामिन्स से युक्त

दूधवरदान सभी विटामिन्स तथा कैल्शियम से भरपूर पशु आहार है जिसे नियमित रूप से सेवन करने से पशु स्वस्थ रहता है और भरपूर मात्रा में दूध मिलता है।

100%

पूर्णतः शाकाहारी

दूधवरदान के सभी पशु आहार पूर्ण रूप से शाकाहारी है जिसमें किसी भी प्रकार के मांसाहारी पदार्थ नहीं मिलाए जाते हैं।

त्रिमूर्ति पशु आहार उद्योग

त्रिमूर्ति पशु आहार उद्योग सन 1983 में शुरू हुई आज उसके 300 कस्टमर है त्रिमूर्ति परिवार उद्योग सालाना 9000 टन पशु आहार भेजती है|
यह नागपुर की सबसे पुरानी फॉर्म है|
यहां सबसे उच्च कोटि का पशु आहार बनता है|
dudh Vardhan brand कस्टमर को ध्यान में रखकर बनाया गया है|

 

दूधवरदान के उपभोक्ता~

“दूधवरदान पशु आहार में  सभी आवश्यक तत्व विद्यमान है जिससे पशुओं को अच्छी गुणवत्ता वाला खाना मिलता है और दूध का उत्पादन तेज़ी से होता है।  दूधवरदान के पदार्थ अच्छी गुणवत्ता वाले है और अच्छे दाम में उपलब्ध हो जातें हैं।”

~ जगमल चौहान.

“दूधवरदान के पशु आहार यूरिया रहित है or स्थानीय क्षेत्र में पशुओं को खिलाये जाने वाले तत्वों से निर्मित है और चिलिटेड मिनरल एंव अन्य आवश्यक मिनरल के साथ विभिन्न प्रकार के विटामिन्स से युक्त है जो पशु के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।”

~जगदीश प्रसाद

दुध वरदान क्यों?

यह सम्पुर्ण संतुलित पसा आहार है। दुध वरदान उचित मात्रा में खिलाने से लाभ इस प्रकार हैं|

 

  • पशुओं की उत्पादन क्षमता बढती हैै।
  • पसा समय पर गाभिन होता है और हर साल एक बच्चा व 300 दिन तक भरपूर दूध का लक्ष्य प्राप्त करने में मदद मिलती है।
  • पसा बिमारी से दूर रहता है जिससे रोग पर होने वाले खर्च में भारी कमी आती है।
  • दुध का उत्पादन, फैट व ैछथ् बढता है
  • यूरिया रहित होने के कारण यूरिया के दुश्प्रभाव नहीं होते।
  • पशुओं की उत्पादन क्षमता बढती हैै।
  • पसा बिमारी से दूर रहता है
  • यूरिया के दुश्प्रभाव नहीं होते।

संपर्क करें!

फोन नंबर

9921467999

Email

info@dudhvardaan.com

पता :

त्रिमूर्ति पशु आहार उद्योग, प्लाट नं १०४, रामदेव बाबा दाल मिल के सामने, Chikli, New Mehta Kanta , Bharatnagar, Kalamna, Nagpur- 08